कोरोना अपडेट:-देश के 20 शहरों ने उड़ाई सरकार का चैन,युद्ध स्तर पर कोरोना कंट्रोल करने के लिए करेगी काम,20 टीमों का गठन कर इन शहरों में भेजेगी


नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए उन राज्यों पर अब विशेष जोर देना शुरू कर दिया है, जहां पर संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को इसके लिए 20 केंद्रीय टीमों का गठन किया है जो देश के अलग-अलग राज्यों के 20 शहरों में जाएंगी और उन राज्यों के साथ तालमेल बनाकर वहां पर कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए काम करेंगी. तमाम तरह के आंकड़ों का एनालिसिस करने के बाद केंद्र सरकार ने 10 राज्यों के ऐसे 20 शहरों जिलों को चिह्नित किया है, जहां पर युद्ध स्तर पर कोरोना कंट्रोल करने के लिए काम करना बेहद जरूरी हो गया है. 


इसमें सबसे टॉप पर महाराष्ट्र के 3 बड़े शहर है. जहां पर स्वास्थ्य मंत्रालय की टीमें जाएंगी जिसमें महा मुंबई, पुणे और ठाणे हैं. आपको बता दें कि देश में सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण के मामले महाराष्ट्र में ही सामने आ रहे हैं और खासतौर से महाराष्ट्र के 3 शहरों में से. यही वजह है कि अब केंद्र को दो कदम आगे बढ़कर केंद्रीय टीमों को वहां भेजना पड़ रहा है. 


इसके बाद, गुजरात के अहमदाबाद, सूरत और बड़ोदरा में भी स्वास्थ्य मंत्रालय की टीमें जाएंगी और राज्य सरकार के हेल्थ वर्कर्स के साथ कोऑर्डिनेट करके वहां पर किस तरह से कोरोना संक्रमण को कंट्रोल किया जाए उस पर काम करेंगे.  मध्यप्रदेश में इंदौर और भोपाल में ना सिर्फ सबसे ज्यादा मामले आ रहे हैं बल्कि वहां पर अभी संक्रमण का फैलना कंट्रोल भी नहीं हुआ है लिहाजा इन दोनों शहरों में भी केंद्र सरकार की टीमें जा रही हैं. 


कोरोना संक्रमण के मामले जिन और राज्य में ज्यादा आ रहे हैं उसमें राजस्थान से में जयपुर और जोधपुर जबकि तमिलनाडु में चेन्नई है यहां पर भी राज्य की टीम के कोरोना कंट्रोल करने के प्लान पर आगे के लिए काम करेंगी. इसके साथ ही जिन दूसरे राज्यों में टीमें भेजी जा रही हैं, उनमें तेलंगाना में हैदराबाद उत्तर प्रदेश में आगरा, लखनऊ जबकि पश्चिम बंगाल में कोलकाता प्रमुख है.  


आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश का आगरा पहला शहर था. जहां सबसे पहले कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए थे और यहीं से फैलना भी ज्यादा शुरू हुआ था. हालांकि आगरा में संक्रमण के मामले कंट्रोल में भी हो गए थे लेकिन बाद में स्थिति फिर बिगड़ गई. 


दक्षिण भारत में आंध्र प्रदेश में करनूल गुंटुर और कृष्णा जिला सबसे चुनौती वाले इलाके हैं. लिहाजा केंद्र ने यहां भी अपनी टीम में भेजने का फैसला किया है. देश की राजधानी दिल्ली के 2 जिले दक्षिणी दिल्ली और मध्य दिल्ली के लिए भी केंद्र ने दो टीमों का गठन किया है जो दिल्ली सरकार की टीमों के साथ तालमेल बिठाकर इन जिलों में या कहें कि इन इलाकों में कैसे संक्रमण को काबू में किया जाए, क्या-क्या कदम उठाए जाने हैं, इन सब को लेकर दिल्ली सरकार की टीमों के साथ काम करेंगी. 


बीते एक सप्ताह से कोरोना संक्रमण के मामले में बेहद तेजी से बढ़ोतरी हुई है, ना सिर्फ संक्रमण के मामले बढ़े हैं बल्कि मौतों की संख्या भी तेजी से बढ़ी जिसने केंद्र सरकार को और चिंता में डाल दिया है. यही वजह है कि स्वास्थ्य मंत्रालय अब युद्ध स्तर पर उन शहरों और जिलों में फोकस करना चाहता है जहां संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और वह एक नई चुनौती देश के समक्ष खड़े कर रहे हैं.


Popular posts
सेंट एंथोनी कॉन्वेंट स्कूल डेयरी कॉलोनी गोरखपुर में महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन पर गीत संगीत और नृत्य का हुआ आयोजन
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image
ईमानदारी का मिसाल बना ऑटो चालक यूसुफ ने अपनी सवारी का रुपये से भरा पर्स पाने पर पुलिस को लौटाया
Image
प्रतिकार फिल्म चौरी चौरा 1922 में सांसद रवि किशन की दमदार भूमिका,, सीन देख कर दर्शकों की विभिन्न प्रतिक्रिया
Image