पुलिसिया आतंक से नहीं चल सकी ईट भट्टों के संचालन, सीमेंट, मोरंग, बालू ,गिट्टी ,सरिया आदि का विक्रय की कवायद


अपर मुख्य सचिव गृह के उपरोक्त आदेश 28 अप्रैल 2020 के पश्चात भी अभी तक जिला मुख्यालय पर ना तो गिट्टी, मोरंग, सीमेंट,बालू आदि की दुकानें ही खुल सकी हैं और ना ही भट्टा व्यवसाई पुलिसिया आतंक और अधिकारियों की उदासीनता के कारण अपने भट्टों से ईंट का विक्रय ही कर रहे हैं। इन विषम परिस्थितियों के कारण पूरे जिले में निर्माण कार्य में लगे हजारों दैनिक मजदूरों व राजगीरों के समक्ष जहां गंभीर आर्थिक संकट उत्पन्न हो जाने के कारण उनकी स्थिति दिन-प्रतिदिन बदतर होती जा रही है वहीं दूसरी तरफ उपरोक्त निर्माण सामग्रियों का व्यवसाय करने वाले व्यापारियों की पूरी व्यापारिक दिनचर्या बैपटरी हो गई है और उन्हें गंभीर आर्थिक हानि का सामना करना पड़ रहा है।
उपरोक्त परिस्थितियों से क्या यह भी स्पष्ट नहीं होता कि शासन  चाहे जो आदेश करता रहे लेकिन इस जनपद में होगा वही जो पुलिस अथवा संबंधित अधिकारी चाहेंगे।
जनपद की जागरूक जनता अब यह जानने को बहुत उत्सुक है कि जिले के संबंधित अधिकारीगण अथवा पुलिस वाले शासन के आदेशों व निर्देशों के अनुसार व्यवस्था संचालित करेंगे अथवा अपनी मर्जी के अनुसार?


Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image