30 जून तक उत्तर प्रदेश में किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम की इजाजत नहीं,सीएम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से जिलाधिारियों को दिया निर्देश


लखनऊ
एक ओर जहां देशभर में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, वहीं प्रदेश सरकारें कोरोना पर कन्ट्रोल के लिए अलग-अलग फैसले ले रही हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी समय-समय पर कई बड़े और महत्वपूर्ण फैसले लिए। हालांकि शुक्रवार को सीएम योगी ने जिस फैसले के बारे में जिलाधिकारियों को निर्देशित किया, उसे लेकर जिला प्रशासन में काफी कन्फ्यूजन की स्थिति बनी हुई है।
सीएम योगी ने शुक्रवार की शाम प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। इस दौरान सीएम ने निर्देश दिए कि 30 जून तक प्रदेश में किसी भी सार्वजनिक और सामूहिक कार्यक्रम की अनुमति न जाए। सीएम के निर्देश को लेकर प्रदेश के विभिन्न जिलों के प्रशासन में कन्फ्यूजन की स्थिति बनी हुई है। जिलाधिकारियों को इस संबंध में कोई लिखित निर्देश नहीं मिला है। वहीं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी इस संबंध में विस्तार से कुछ नहीं बताया गया है।
राजधानी का जिला प्रशासन भी बेखबर
30 जून तक किस तरह के कार्यक्रमों की इजाजत नहीं दी जाएगी, जिन लोगों ने शादी-पार्टी के लिए गेस्ट हाउस, होटल्स की बुकिंग करा ली है, क्या उन्हें उनके पैसे वापस मिलेंगे, इस तरह के सवालों पर सूबे के जिलों में कोई कुछ बोलने को तैयार नहीं है। राजधानी लखनऊ के डीएम के सूचना अधिकारी सिद्धार्थ दीक्षित के मुताबिक, इस संबंध में जिले में सीएम के निर्देशों का पालन किया जाएगा लेकिन जब उनसे यह पूछा गया कि सीएम योगी की ओर से इस संबंध में निर्देश क्या हैं, तो उन्होंने चुप्पी साध ली।
अन्य जिलों में भी नहीं कोई तैयारी
राजधानी लखनऊ के पड़ोसी जिले सीतापुर, हरदोई, बाराबंकी में भी सीएम के निर्देशों को लेकर कोई विस्तृत जानकारी नहीं है। जिला प्रशासन से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, अभी तक इस संबंध में शासन की ओर से कोई निर्देश जारी नहीं हुए हैं। वहीं जिला प्रशासन ने अपने स्तर पर भी किसी तरह का आदेश जारी नहीं किया है। सीतापुर जिला प्रशासन से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि धारा-144 लगी हुई है, ऐसे में वैसे भी किसी समारोह की इजाजत नहीं है। जब उनसे यह पूछा गया कि तो क्या यह मान लिया जाए कि सूबे में 30 जून तक धारा-144 लागू रहेगी, तो वह गोलमोल जवाब देते नजर आए।
कर ली थी बुकिंग, अब पैसे डूबने का डर
आपको बता दें कि शादी-पार्टी के लिए मैरिज हॉल, गेस्ट हाउस, होटल इत्यादि की बुकिंग महीनों पहले से हो जाती है। इसके लिए लोग अच्छी कीमत भी अडवांस बुकिंग के लिए जमा कर देते हैं। अब जब सीएम योगी की ओर से 30 जून तक सूबे में किसी भी तरह के आयोजन की अनुमति देने से रोक लगा दी गई है तो लोगों को उनके पैसे डूबने का डर सता रहा है। लोगों का कहना है कि सरकार को इस तरह के निर्देश देने के साथ ही बुकिंग के लिए जमा किए गए पैसे वापस करने के भी निर्देश देने चाहिए।


Popular posts
दिल्ली:- 12 साल के लड़के ने 18 साल की लड़की को किया गर्भवती, अस्पताल में बच्चे को जन्म देकर लड़की ने किया खुलासा
Image
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
पत्रकार समाज मे फैली बुराईयों को दूर करने के साथ-साथ स्वच्छ समाज का निर्माण करता:-राज्य सूचना आयुक्त
Image
नेशनल एंटी चाइल्ड लेबर डे” पर बच्चों ने स्वयं बच्चो के लिए उठायी आवाज
Image
राम मंदिर निर्माण हेतु मोदी ने किया भूमि पूजन,पांच सौ बर्षों से चल रहे विवाद का हुआ सुखद अंत,पारिजात वृक्ष का पौधा भी रोपा गया
Image