शिवाजी जी ने कैसे दी बलात्कारी को सजा

बलात्कारी को क्या सजा दी जाए ये आज तक
हमारे नपुसंक कानून को नहीं पता। 


जो #शिवाजी
#महाराज जी ने मात्र 15 साल की उम्र में सजा देकर
कर दिखाया 👇👇


रांझा गाँव के एक पाटिल ने जब एक
युवती से बलात्कार करके उसकी हत्या कर
दी.
तब शिवाजी महाराज ने पाटिल को बुलावा
भेजा  
पाटिल ने शिवाजी महाराज को बालक
कह कर मजाक उड़ाया और आने से इंकार कर
दिया 
तब शिवाजी महाराज ने सेना भेजी और
कहा 
रांझा गाँव के पाटिल को घोड़े के पीछे
बांधकर उसे घसीट कर ले आने का आदेश दिया
पाटिल को उपस्थित किया गया ।
पाटिल ने क्षमा मांगते हुए कहा उसे जान से ना
मारा जाये! 
तो
छत्रपति शिवाजी महाराज-: ने कहा की "हम
तुम्हे जान से नही मारेंगे (पूरा दरबार इस
निर्णय से अचंभित होगया) 
छत्रपति शिवाजी
महाराज ने अपने सैनिको को आदेश दिया 
इसके
दोनों हाथ पैर काट दिए और उसकी आँखे फोड़ के
बीच चौराहें पर लटका दिया जाए 
और आदेश
जारी किया जो कोई भी उसे देखें उसपर थूक कर
जाये" ।


छत्रपति शिवाजी महाराज के आदेश पर सैनिको
ने रांझे गाँव की पाटिल के आंख फोड़ दिए ,
दोनों हाथ पैर काटके बीच चौराहें लटका
दिया एवं 
आदेश अनुसार उसको देखने वाले
सभीलोग उसपर थूकते थे ,
ताकि लोगोंको पता चले 
बलात्कारियों को
कैसी सजा मिलती है और आगे से कोई भी
बलात्कार करने की हिम्म्त न जुटा पाये । 
इस
घटना के बाद मराठा शाही में किसी भी
बलात्कार की घटना का उल्लेख नहीं है।


Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image