<no title>

*जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने श्रम पंजीयन एवं हितलाभ वितरण कार्यक्रम का फीता काटकर किया शुभारंभ*
बस्ती । जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने करुआ बाबा तिराहे पर श्रम पंजीयन एवं हितलाभ वितरण कार्यक्रम का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने  मृत्यु लाभ योजना के अंतर्गत सुमित्रा, सुखराम, प्रेमा देवी, अजय कुमार, सुनीता सिंह तथा आवास योजना के अंतर्गत दिनेश कुमार, इंद्रावती, रतीराम, नेकपाल, हितलाल, राजेंद्र पाल तथा शिव शंकर को योजना का स्वीकृति पत्र दिया। उन्होंने कहा कि मृत्यु लाभ योजना के अंतर्गत रू0 25000, अंत्येष्टि के लिए तथा रू0 200000 अनुदान के रूप में खाते में भेजा जाएगा। इसी प्रकार आवास योजना के अंतर्गत प्रत्येक लाभार्थी के खाते में रू0 100000 भेजा जाएगा। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि श्रमिक परिवार के लाभ के लिए 17 प्रकार की योजनाएं श्रम विभाग द्वारा संचालित हैं। इसका लाभ लेने के लिए परिवार को अपना रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है रजिस्ट्रेशन के साथ रिन्यूअल भी कराएं। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक निर्माण परियोजनाओं से 2 प्रतिशत सेसा के रूप में धन एकत्र कर श्रम विभाग को दिया जाता है। इसलिए इस योजना में धन की कभी कोई कमी नहीं होती है। उन्होंने कहा कि पंजीकरण की समस्या को दूर करने के लिए प्रत्येक जिला स्तरीय तहसील दिवस पर श्रम विभाग कैंप आयोजित करेगा, साथ ही पात्र व्यक्तियों का फार्म भरवाएगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक श्रमिक को 1 वर्ष में 90 दिन कार्य करना अनिवार्य है। इसका प्रमाण पत्र देने पर उन्हें योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकेगा। 
उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन मनरेगा राज्य वित्त आयोग एवं अन्य योजनाओं में कार्य कर रहे श्रमिकों को 90 दिन का प्रमाण पत्र मस्टरोल के आधार पर उपलब्ध कराने की व्यवस्था कर रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि श्रमिकों के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा के लिए हर्रैया तहसील में अटल आवासीय विद्यालय की स्थापना कराई जा रही है। यहां पर बच्चों को निःशुल्क शिक्षा के साथ-साथ आवासीय सुविधा, भोजन ,पाठ्य पुस्तकें एवं अन्य सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। इस विद्यालय में केवल श्रमिकों के बच्चे ही शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने कहा कि योजनाओं का लाभ लेने के लिए समय से आवेदन करना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के सामान्य मृत्यु पर रू0 200000 तथा दुर्घटना में मृत्यु होने पर रू0 500000 दिए जाते हैं। इसके अलावा उनके लिए पेंशन, बच्चों की शिक्षा, आवास, पुत्री का विवाह, दो पुत्रियों तक 25000 रुपए की एफडी कराने की सुविधा भी विभाग देता है। इसका लाभ लेने के लिए श्रमिकों को जागरूक होना होगा। इस अवसर पर श्रमिक  राजकुमार तथा हित लाल ने दोनों अधिकारियों को पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित भी किया । इस अवसर पर सभासद, उप श्रम आयुक्त दिव्य गिरी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी विनय पंकज, स्थानीय नागरिक तथा भारी संख्या में श्रमिक उपस्थित रहे।


Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image