6दिसंबर तक अयोध्या हाई एलर्ट होगी


अयोध्या। श्रीरामजन्मभूमि के पक्ष में फैसला आने के पड़ रहे पहले छह दिसंबर को लेकर रामनगरी में खास एलर्ट बरतने का निर्देश सुरक्षा एजेंसियों को दिया गया है। विश्व हिंदू परिषद ने इस बार छह दिसंबर को भले ही शौर्य दिवस न मनाने का निर्णय लिया लेकिन सुरक्षा एजेंसियां अयोध्या में भीड़ बढ़ने को लेकर सतर्क है।


रामनगरी में खास एलर्ट के बाद पहली दिसंबर को रामविवाह और छह दिसंबर को विवादित ढांचा ध्वस्त होने की बरसी को देखते अयोध्या के साथ उससे सटे इलाकों में भी सुरक्षा के चाक-चौबंद सुरक्षा के बंदोबस्त प्रारंभ हो गए हैं। सुरक्षा एजेंसियों को जगह-जगह चेकिंग के साथ संदिग्ध लोगों को रोककर चेकिंग का निर्देश दिया गया है। अयोध्या में पहली दिसंबर से छह दिसंबर तक सर्तकता बरतने के निर्देश के बाद श्री राम जन्मभूमि न्यास कार्यशाला में जहां मंदिर मॉडल के तराशे गए पत्थर रखें गए हैं, उसको देखने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सुरक्षा एजेंसियों के एलर्ट के बाद जिला प्रशासन ने कार्यशाला में सुरक्षा कर्मियों की संख्या बढ़ाने के साथ मुख्य गेट पर डोरफ्रेममेटल डिटेक्टर (डीएफएमडी) लगा दिया है। अब कार्यशाला में श्रद्धालु पूरी जामा तलाशी के बाद ही प्रवेश कर रहे है। 


 


सुरक्षा के मद्देनजर कराए जा रहे हैं इंतजाम


सीओ अयोध्या अमर सिंह ने बताया फैसले के बाद से तराशे गए पत्थरों को देखने के लिए श्रद्धालुओं की संख्या काफी बढ़ गई है।इसी के मद्देनजर सुरक्षा के बंदोबस्त किए गए है।जिससे कोई अराजक तत्त्व परिसर में प्रवेश न कर सके। साथ ही पहली से छह दिसंबर को लेकर भी पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। खुफिया विभाग बाहरी लोगों पर नजर रखे हुए हैं।


Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image