हिमालयन रत्न सृजन सम्मान से सम्मानित हुए कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

 


*************************

बुलंदी का कौन सा क़िस्सा सुना रहे हो मुझको !

मेरी ज़िंदगी का क़िस्सा सुनो सुनाना भूल जाओगे !! संघर्ष को प्रेरित करता हुआ यह शेर अंबेडकरनगर के कवि व मंच संचालक तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु की खुद्दारी को बयां करता है ! पेशे से शिक्षक जिज्ञासु जी कविता और साहित्य की दुनिया में एक अलग पहचान रखते हैं ! ऑनलाइन हो या ऑफलाइन कवि सम्मेलन व मुशायरे की महफ़िल में अपने संचालन से चार चांद लगा देते हैं ! अब तक जिज्ञासु की 3 पुस्तकें एवं कई साझा काव्य संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं ! जिज्ञासु की लेखनी सामाजिक विसंगतियों एवं आम आदमी की ज़िंदगी की सच्चाईयों को बखूबी रचनाओं में पिरोने का हुनर रखती है ! कई साहित्यिक संस्थाओं से सम्मान प्राप्त कर चुके जिज्ञासु को हाल ही में प्रख्यात राष्ट्रीय साहित्यिक संस्था हिमालयन अपडेट द्वारा हिमालयन रत्न सृजन सम्मान से सम्मानित किया गया है ! संस्था के सम्मानित सदस्यों के साथ साथ शिक्षक व साहित्य जगत के मित्रों ने कवि जिज्ञासु को बधाई व शुभकामनाएं दी हैं !

Popular posts
खलीलाबाद से बहराइच तक रेल लाइन बिछेगी, डीपीआर रेलवे बोर्ड को प्रेषित
Image
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
दिल्ली:- 12 साल के लड़के ने 18 साल की लड़की को किया गर्भवती, अस्पताल में बच्चे को जन्म देकर लड़की ने किया खुलासा
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image
महान साहित्यकार आचार्य ज्योतीन्द्र प्रसाद झा 'पंकज' की पुण्य तिथि पर वृहद कार्यक्रम आयोजित, राष्ट्रीय स्तर के साहित्यकारों ने अपनी रचनाओं द्वारा श्रद्धांजलि अर्पित की
Image