आओ कुछ देर ठहर जाओ मेरी यादों में तुम – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

 


तेरी यादों का सिलसिला कभी रुकता नहीं !

आख़िर मैं अपनी ज़िंदगी सभालूं तो कैसे !!

******************

यादों का गुलदस्ता बना कर रखो मुझे ज़िंदगी में अपने !

मेरा वादा है मैं तुम्हारी हर इक समस्या सुलझा दूंगा !!

******************

तेरी यादों का अनमोल ख़ज़ाना छुपा रखा हूं दिल में अपने !

तुम मुझे अपना मानो या ना मानो यह तुम्हारी मर्ज़ी है !!

******************

हमारे पास तेरी यादों का गुलदस्ता है !

भला मैं क्यों उदास रहूं ज़माने में !!

******************

आओ कुछ देर ठहर जाओ मेरी यादों में तुम !

अपनी मोहब्बत का ताज बनाकर देखूं तो सही !!

******************

अबकी सावन में मेरी यह कोशिश रहेगी !

तुम्हारी यादों के झूले में कुछ देर रहूं मैं !!

******************

मुझे तुम भूल जाओ इतना आसान नहीं !

बड़े हसीन लम्हे गुज़रे हैं साथ तेरे !!

***********तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image