भला मैं तुमसे दुआ की उम्मीद करूँगा कैसे – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

 


बड़ी कद्र है मेरे ज़ेहन में तुम्हारे शब्दों की !

तुम्हारे शब्द मेरे दिल में घर कर जाते हैं !!

******************

शब्दों की जादूगरी भला कोई तुमसे सीखे !

तुम्हारे शब्द ज़ख्मों पर मरहम बन जाते हैं !!

******************

तेरे शब्द विन्यास की जितनी तारीफ़ करूं कम ही है !

तुम्हारी कविता की लोकप्रियता तुम्हारे शब्दों से ही है !!

******************

तेरे शब्द मेरे हृदय को आहत कर देते हैं इतना !

भला मैं तुम से दुआ की उम्मीद करूँगा कैसे !!

******************

शब्दों का ताना-बाना बुनना सीख लिया तुमने !

जीना अब आसान हुआ तुमको इस दुनिया में !!

******************

शब्दों का व्यापार तुम्हारे लिए मुफ़ीद साबित होगा !

शहद से कहीं ज्यादा मीठे हैं एक एक लफ्ज़ तुम्हारे !!

******************

हमें अपनी ज़िंदगी में क़ामयाबी का परचम लहराना है बेशक !!

क़ामयाबी के लिए शब्दों की पूंजी जमा कर ली है मैंने !!

***********तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
संजय द्विवेदी पीएचडी पात्र हेतु घोषित,राजेन्द्र माथुर का हिंदी पत्रकारिता में योगदान पर किया शोध
Image
बंधन में बँधना मेरी क़ैफ़ियत को गवारा नहीं कभी – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
सहजयोग नेशनल ट्रस्ट, नई दिल्ली द्वारा पूरे भारत में कुण्डलिनी जागरण के माध्यम से आनलाइन ‘‘लाइव आत्मसाक्षात्कार, का आयोजन
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image