नतीजा है कि हर त्योहार खुशी देता है हमको – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

दिवाली में तेरे मन की सारी मुरादें पूरी हो गई !

काश मैं भी तुम्हारी खुशियों में शामिल होता !!

******************

दिवाली में अगर लोगों के दिलों का मैल हट जाता !

सच कहता हूं दुनिया की आधी समस्या ख़त्म हो जाती !!

******************

यूं तो दिवाली में सारा शहर रोशन है !

दिल भी रोशन होते तो क्या बात होती !!

******************

बहुत देर से दस्तक दे रहा हूं तेरे दिल पर !

मगर दिल का दरवाजा अभी तक खुला नहीं !!

******************

केवल रस्मी तौर पर त्योहार मनाना ठीक नहीं !

कोशिश करो त्योहार का मक़सद भी पूरा हो !!

******************

हमारे मां बाप से हमेशा नसीहत मिली हमको !

नतीजा है कि हर त्योहार खुशी देता है हमको !!

******************

मेरी कोशिश है लोगों को मुश्किलों से बचाने की !

मगर लोग हैं कि मुझसे भी दूरी बनाए बैठे हैं !!

***********तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
संजय द्विवेदी पीएचडी पात्र हेतु घोषित,राजेन्द्र माथुर का हिंदी पत्रकारिता में योगदान पर किया शोध
Image
वरना माँ तो माँ है तुमसे शिकायत करेगी कैसे – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
रेड क्रॉस के सचिव कुलवेन्द्र सिंह मजहबी को राज्यपाल ने सम्मानित किया
Image
आशीष श्रीवास्तव,बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने,2013 बैच के आईपीएस अधिकारी है
Image