तुम्हें कोई याद करता है शुक्रिया करो उसका = कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

 


अब केवल यादें ही रह गई हैं हमारे और तुम्हारे बीच !

अतीत के उन हसीन लम्हों को याद कर मैं मुस्कुराता बहुत हूं !!

*****************

जीवन में अपनी यादों का सफ़र जारी रखो !

अतीत के खूबसूरत लम्हें ज़िंदादिल रखेंगे !!

******************

उसकी यादों के सहारे ज़िंदगी का सफ़र पूरा हो नहीं सकता !

हक़ीक़त की ज़िंदगी में हर दिन तुम्हें सहारे की ज़रूरत होगी !!

******************

हम तो आज भी याद करते हैं खोए हुए लोगों को !

बड़ी मोहब्बत मिली है हमको उन तमाम लोगों से !!

******************

कुछ भी आसान नहीं है मौजूदा दौर में प्यारे !

तुम्हें कोई याद करता है शुक्रिया करो उसका !!

******************

यादों की बारात भूल जाना ज़िंदगी के नए सफ़र के लिए ज़रूरी है !

किसी की यादों में खोकर ज़िंदगी का सफ़र सुहाना नहीं कर सकते हम !!

******************

हम तुम्हारी तारीफ़ के क़िस्से कब तक सुनाएंगे दुनिया को !

पुरानी यादों को देर तक संजोए रखना मेरे बस की बात नहीं !!

***********तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकर नगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
संजय द्विवेदी पीएचडी पात्र हेतु घोषित,राजेन्द्र माथुर का हिंदी पत्रकारिता में योगदान पर किया शोध
Image
वरना माँ तो माँ है तुमसे शिकायत करेगी कैसे – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बंधन में बँधना मेरी क़ैफ़ियत को गवारा नहीं कभी – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
रेड क्रॉस के सचिव कुलवेन्द्र सिंह मजहबी को राज्यपाल ने सम्मानित किया
Image