औरों को सुख पहुंचाने से बेहतर कोई काम नहीं -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

भाग्य विधाता बनकर तुमने रिश्ता मुझसे आबाद किया ! 

करूं शुक्रिया कैसे तुम्हारा कोई शब्द नहीं है पास मेरे !! 

*************************

भाग्य विधाता बनकर देखो खुशहाल रहोगे तुम !

औरों को सुख पहुंचाने से बेहतर कोई काम नहीं !!

*********************

भाग्य विधाता बनकर जीना खेल नहीं है बच्चों का ! 

भाग्य विधाता कौन है किसका यह बतलाना आसान नहीं !! 

*************************

पूंजीपतियों की कोई कमी नहीं शहर में तेरे लेकिन ! 

भाग्य विधाता किसी का बनकर जीना शायद संभव हो !! 

*************************

दुनिया में अपना भाग्य विधाता खुद ही बन जाओ तुम ! 

ढूंढ ढूंढ कर भाग्य विधाता एक दिन तुम थक जाओगे !!

************************* 

जीवन की सारी कोशिश का प्रतिफल मिलना तय है एक दिन ! 

भाग्य विधाता बनकर तुमने औरों का कल्याण किया है !! 

******************तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
खलीलाबाद से बहराइच तक रेल लाइन बिछेगी, डीपीआर रेलवे बोर्ड को प्रेषित
Image
मधुरेश रचित सुमन–सौरभ सच्चे जीवनसाथी की गहरी संवेदनाएं एवं भावनाओं का पावन दस्तावेज़–संचालक तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
दिल्ली:- 12 साल के लड़के ने 18 साल की लड़की को किया गर्भवती, अस्पताल में बच्चे को जन्म देकर लड़की ने किया खुलासा
Image
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
बस्ती मंडल के नए डीआईजी श्री आर के भारद्वाज,अलीगढ़ के मूल निवासी है श्री भारद्वाज
Image