मेरी सलाह है अपना एक मनमीत बनाओ तुम -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

 


कहाँ मिलता है मनमीत किसी को आसानी से ! 

मनमीत की तलाश में बहुतों की उम्र गुजर गई !! 

*************************

तुम्हारे शहर के लड़कों की अजीब दास्तान है ! 

शायद ही कोई हो पास मनमीत न हो जिसके !! 

*************************

सफ़र की सारी थकान उस वक्त दूर हो जाती है अपनी ! 

पास बैठकर जब कोई मनमीत पूछता है हाल-चाल अपनी !! 

*************************

चाहते हो कि हंसी खुशी ज़िंदगी गुजरे तुम्हारी ! 

मेरी सलाह है अपना एक मनमीत बनाओ तुम !! 

*************************

चलो दुनिया की दौड़ में हम भी शामिल हो जाएं ! 

मेरा मनमीत साथ है भरोसा है मुझको जीत का !! 

*************************

मनमीत का ज़िक्र कर दिया था सफ़र में उससे मैंने ! 

फिर क्या उसने मनमीत का एक क़िस्सा सुनाया मुझको !! 

*************************

हमारे शहर का एक रईस बहुत उदास रहता है ! 

काश कोई उसको भी अपना मनमीत बना लेता !! 

******************तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
सेंट एंथोनी कॉन्वेंट स्कूल डेयरी कॉलोनी गोरखपुर में महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन पर गीत संगीत और नृत्य का हुआ आयोजन
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
ईमानदारी का मिसाल बना ऑटो चालक यूसुफ ने अपनी सवारी का रुपये से भरा पर्स पाने पर पुलिस को लौटाया
Image
बिजली उपभोक्ताओं के लिए एकमुश्त समाधान योजना उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 प्रतिशत तक अधिभार में छूट:--अधिशासी अभियंता संतोष कुमार
Image
284 करोड़ रुपये की ठगी करने वाला अन्तर्राज्यीय गिरोह का डायरेक्टर गिरफ्तार
Image