काश मैं तुमको तुम्हारा हक़ दिला पाता -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

 


अपना हक़ पाने के लिए तुम्हें कुछ गंवाना होगा ! 

तुम्हारे हक़ की लड़ाई दूसरा कौन लड़ेगाआख़िर !! 


************************

इस बिगड़े दौर में नाइंसाफी मुमकिन है अक्सर ! 

रही बात हक़ की तो कलेजा पत्थर का रखो !! 

*************************

तुम्हारे सिर के बालों की सफेदी बता रही है बहुत कुछ हमको ! 

बात रही तुम्हारे हक़ की तो यह तय है तुम्हें मिलकर रहेगा !! 

*************************

गरीबों की आह तुमसे तुम्हारी ज़िंदगी का सुकून छीन लेगी ! 

हक़ गरीबों का डकार कर तुम इसे पचा पाओगे कैसे !! 

************************

ज़िंदगी में बुझदिली कभी गंवारा नहीं होगी हमको ! 

ताउम्र हक़ के लिए आवाज़ बुलंद करते रहेंगे हम !! 

*************************

इस मुल्क में जीने का अंदाज़ अलग है लोगों का !

अपना हक़ खोकर भी जीते हैं लोग मुस्कुराकर !! 

************************

मेरे दिल को भी तसल्ली मिल ही जाती ! 

काश मैं तुमको तुम्हारा हक़ दिला पाता !! 

***************** तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
महात्मा गांधी की पोती है अमेरिकी नागरिक, जीती है ग्लैमरस लाइफ,कांतिलाल गांधी की है पुत्री
Image
बस्ती मंडल के नए डीआईजी श्री आर के भारद्वाज,अलीगढ़ के मूल निवासी है श्री भारद्वाज
Image
श्री रामधारी सिंह दिनकर सम्मान से अलंकृत हुए – शिक्षक कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु *****************
Image