बेहतर है चाचा नेहरु जैसा कोई गीत सुनाना तुम -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

चाचा नेहरू के जन्म दिवस को बाल दिवस हम कहते हैं ! 


टॉफी बिस्कुट और लाओ खिलौने अक्सर ही हम कहते हैं !! 


*************************


हम बच्चे अपनी ही दुनिया में अक्सर खोए रहते हैं ! 


कदम-कदम पर मम्मी - पापा की झिड़की भी सहते हैं !! 


*************************


टीवी के कार्टून सीरियल हमको बहुत लुभाते हैं ! 


हम बच्चे दुनिया को मन का गीत सुनाते हैं !! 


*************************


सपने में मेरे नदी पहाड़ जब तब आ जाते हैं ! 


इसी बहाने कहीं-कहीं जाकर सैर कर आते हैं !! 


*************************


मम्मी-पापा के सपनों को हम सच कर दिखलाएंगे ! 


दुनिया की नज़रों में तब हम अच्छे बच्चे कहलाएंगे !! 


*************************


बोझ किताबों का यूं तो रहता सवार है सिर पर हरदम ! 


फिर भी हम मौक़ा पाकर खुद की दुनिया सजाते हैं !!


*************************


मौका ऐसा आएगा बचपन मेरा खो जाएगा ! 


होकर बड़े हम भी जिम्मेदारी से बंध जाएंगे !! 


*************************


बच्चा-बच्चा कहकर मुझको मत बहकाना तुम ! 


बेहतर है चाचा नेहरु जैसा कोई गीत सुनाना तुम !! 


**************तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !


Popular posts
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के संस्थापक स्वर्गीय बाबू बालेश्वर लाल की 35वीं पुण्यतिथि को पत्रकारिता दिवस के रूप में में मनाया गया
Image
खलीलाबाद से बहराइच तक रेल लाइन बिछेगी, डीपीआर रेलवे बोर्ड को प्रेषित
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image