नारकोटिक्स सेल, क्राइम ब्रांच द्वारा ड्रग सप्लायर महिला गिरफ्तार, गृहिणी महिला पैसे कमाने के लोभ में ड्रग सप्लायर बनी..


 


✔️ *नारकोटिक्स सेल, क्राइम ब्रांच द्वारा ड्रग सप्लायर महिला गिरफ्तार*


✔️ *गृहिणी महिला पैसे कमाने के लोभ में ड्रग सप्लायर बनी..!*


✔️ *गिरफ्तार महिला मादीपुर, मंगोलपुरी, निहाल विहार और आस पास के इलाके में कई महीनों से सक्रिय थी*


✔️ *गिरफ्तार महिला का साथी हेरोइन सप्लाई करने के केस में जेल में है*


✔️ *गिरफ्तार ड्रग सप्लायर महिला के परिवार का लंबा अपराधिक इतिहास*


 ✔️ *बरामद हेरोइन की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 30 लाख से ज़्यादा*


 


🔹 *दिल्ली में नशे/मादक पदार्थ के कारोबार से जुड़े लोगों के खिलाफ चलाए हुए अभियान के दौरान नारकोटिक्स सेल, क्राइम ब्रांच में तैनात SI रवी को गुप्त सूचना मिली कि संध्या नाम कि महिला निहाल विहार में किसी व्यक्ति को हीरोइन बेचने आएगी।*


🔹 *इस सूचना पर इंस्पेक्टर राम मनोहर के नेतृत्व में SI रवी, SI श्याम शरण, कांस्टेबल सुमित, सुखबीर वा सरबजीत ने एसीपी नारकोटिक्स जे. एन.झा के देखरेख में ट्रैप लगा कर संध्या को गिरफ्तार किया और 200 gm हेरोइन बरामद किया जिसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में 30 लाख रुपए से ज़्यादा है। 


  पूछ ताछ में संध्या ने बताया की उसका परिवार एक लंबे समय से शराब की अवैध बिक्री में शामिल रहा है। उसकी मां पर अवैध शराब के कई केस दर्ज हैं, उसकी चार में से दो बहनों पर भी कई केस दर्ज हैं। संध्या ने कक्षा 5 तक पढ़ाई की और वर्तमान में 1 बेटी और 3 बेटों की मां है। उसका पति भी शराब की अवैध बिक्री करता रहा है और उस पर 3 केस दर्ज हैं। शादी के बाद संध्या सामान्य गृहिणी की जिंदगी बिता रही थी लेकिन उसने देखा कि उसके परिवार और कुछ जानकार हेरोइन सप्लाई कर के काफी पैसा कमा रहे थे। *उसके दूर के रिश्तेदार सनी ने जिसपर 20 से ज्यादा अवैध शराब, आर्म्स एक्ट, हत्या की कोशिश, लूट इत्यादि के केस दर्ज हैं उसने भी हेरोइन सप्लाई कर के काफी पैसे कमा लिए जिसको देख कर संध्या काफी प्रभावित हो गई और सन्नी के लिए हेरोइन सप्लाई का काम करने लगी लेकिन धीरे धीरे उसने खुद ही ड्रग एडिक्ट्स और लोकल सप्लायर्स से संपर्क बना लिया। कुछ महीने पहले सन्नी हरोइन के साथ के इलाके में वेन्यू गाड़ी में हीरोइन के साथ पकड़ा गया, वह गाड़ी संध्या के नाम पर दर्ज मिली। लिहाजा कापसहेड़ा थाने में दर्ज केस में पूछ ताछ के लिए जाना था परन्तु नारकोटिक्स सेल को टीम ने गिरफ्तार कर लिया। कम समय में ज्यादा पैसा कमाने के लोभ में संध्या एक तेज तर्रार और चालाक ड्रग सप्लायर बन गई। वह खुद ही अपने स्कूटी या ऑटोरिक्शा से हेरोइन सप्लाई करती थी और किसी से भी तय समय और जगह पर नहीं मिलती थी। सन्नी के गिरफ्तारी कर बाद वा काफी चौकन्ना हो कर नशे का कारोबार चला रही थी लेकिन नारकोटिक्स सेल, क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे रंगे हाथों पकड़ के उसके नशे के कारोबार का पर्दाफाश कर दिया*। पुलिस संध्या से मिली जानकारी से नशे के कारोबार में शामिल अन्य लोगो की तलाश कर रही है।


________________


Popular posts
प्रतिकार फिल्म चौरी चौरा 1922 में सांसद रवि किशन की दमदार भूमिका,, सीन देख कर दर्शकों की विभिन्न प्रतिक्रिया
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
श्रमजीवी पत्रकारों के देशव्यापी शीर्ष संगठन आईएफडब्ल्यूजे का 70 वां स्थापना दिवस मनाया, यूपी प्रेस क्लब में हुआ आयोजन
Image
विश्व पोलियो उन्मूलन दिवस पर रोटरी क्लब बस्ती मिडटाउन व इनरव्हील क्लब बस्ती मिडटाउन द्वारा पोलियो विजय दिवस समारोह का हुआ आयोजन
Image