मौत हर किसी की ज़िंदगी का अंतिम सच है मगर -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु


मौत का आंकड़ा मत पूछिए इन दिनों साहब ! 


कोरोना ने तो मौत का अभियान चला रखा है !! 


*************************


लॉकडाउन व क्वारंटाइन का नतीजा सबके सामने है ! 


सौभाग्य है उनका जो बच गए दुर्भाग्य है जो गुजर गए !! 


*************************


मौत तो हमेशा भयावह तस्वीर रखती है साथ अपने ! 


साथ कोरोना का पाकर इन दिनों हो गई और सयानी !! 


*************************


कोरोना की रफ़्तार से हैरान था हर कोई यहाँ ! 


वैक्सीन की खुशी में दहशत कम हुई शायद !! 


*************************


मौत हर किसी की ज़िंदगी का अंतिम सच है मगर ! 


इस सच्चाई का खुशी से सामना आसान नहीं कभी !! 


*************************


ज़िंदगी और मौत का फ़ासला बहुत कम है इन दिनों ! 


साधु संत कहते हैं मौत आएगी तुम्हें नया रूप देने को !! 


************* तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !


Popular posts
वरना माँ तो माँ है तुमसे शिकायत करेगी कैसे – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
वाजा इंडिया" की नई कार्यकारिणी घोषित,वरिष्ठ पत्रकार पी. बी. वर्मा अध्यक्ष,शिवेन्द्र प्रकाश द्विवेदी महासचिव बने
Image
रेड क्रॉस के सचिव कुलवेन्द्र सिंह मजहबी को राज्यपाल ने सम्मानित किया
Image