मौत हर किसी की ज़िंदगी का अंतिम सच है मगर -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु


मौत का आंकड़ा मत पूछिए इन दिनों साहब ! 


कोरोना ने तो मौत का अभियान चला रखा है !! 


*************************


लॉकडाउन व क्वारंटाइन का नतीजा सबके सामने है ! 


सौभाग्य है उनका जो बच गए दुर्भाग्य है जो गुजर गए !! 


*************************


मौत तो हमेशा भयावह तस्वीर रखती है साथ अपने ! 


साथ कोरोना का पाकर इन दिनों हो गई और सयानी !! 


*************************


कोरोना की रफ़्तार से हैरान था हर कोई यहाँ ! 


वैक्सीन की खुशी में दहशत कम हुई शायद !! 


*************************


मौत हर किसी की ज़िंदगी का अंतिम सच है मगर ! 


इस सच्चाई का खुशी से सामना आसान नहीं कभी !! 


*************************


ज़िंदगी और मौत का फ़ासला बहुत कम है इन दिनों ! 


साधु संत कहते हैं मौत आएगी तुम्हें नया रूप देने को !! 


************* तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !


Popular posts
प्रिण्ट मीडिया ही पत्रकारिता की रीढ़ है,प्रिण्ट मीडिया सदा था सदा ही रहेगा – पुलिस महानिरीक्षक बस्ती
Image
ग्रामीण क्षेत्र में अस्पताल खोलना पुनीत कार्य-इं0 राजेन्द्र चौधरी
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
भारत रत्न मा अटल बिहारी वाजपेयी जयन्ती के अवसर पर काव्य पाठ गायन एवं मिशन शक्ति के अंतर्गत राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन विषय पर आधारित पेन्टिंग व फोटोग्राफी कला प्रदर्शनी का हुआ आयोजन
Image
284 करोड़ रुपये की ठगी करने वाला अन्तर्राज्यीय गिरोह का डायरेक्टर गिरफ्तार
Image