मौत हर किसी की ज़िंदगी का अंतिम सच है मगर -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु


मौत का आंकड़ा मत पूछिए इन दिनों साहब ! 


कोरोना ने तो मौत का अभियान चला रखा है !! 


*************************


लॉकडाउन व क्वारंटाइन का नतीजा सबके सामने है ! 


सौभाग्य है उनका जो बच गए दुर्भाग्य है जो गुजर गए !! 


*************************


मौत तो हमेशा भयावह तस्वीर रखती है साथ अपने ! 


साथ कोरोना का पाकर इन दिनों हो गई और सयानी !! 


*************************


कोरोना की रफ़्तार से हैरान था हर कोई यहाँ ! 


वैक्सीन की खुशी में दहशत कम हुई शायद !! 


*************************


मौत हर किसी की ज़िंदगी का अंतिम सच है मगर ! 


इस सच्चाई का खुशी से सामना आसान नहीं कभी !! 


*************************


ज़िंदगी और मौत का फ़ासला बहुत कम है इन दिनों ! 


साधु संत कहते हैं मौत आएगी तुम्हें नया रूप देने को !! 


************* तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !


Popular posts
प्रतिकार फिल्म चौरी चौरा 1922 में सांसद रवि किशन की दमदार भूमिका,, सीन देख कर दर्शकों की विभिन्न प्रतिक्रिया
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
श्रमजीवी पत्रकारों के देशव्यापी शीर्ष संगठन आईएफडब्ल्यूजे का 70 वां स्थापना दिवस मनाया, यूपी प्रेस क्लब में हुआ आयोजन
Image
विश्व पोलियो उन्मूलन दिवस पर रोटरी क्लब बस्ती मिडटाउन व इनरव्हील क्लब बस्ती मिडटाउन द्वारा पोलियो विजय दिवस समारोह का हुआ आयोजन
Image