कद्र करिए शरीफों की तो शायद कुछ माहौल बदल जाए -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु


तुम्हारी शराफ़त की बातें पसंद नहीं है सबको ! 


यहाँ तो कुछ लोग बस हंगामा ही समझते हैं !! 


*************************


किसी की शराफ़त को उसकी कमजोरी मत समझना ! 


शरीफ़ जब अपने पर आएगा तो भूत बन जाएगा !! 


*************************


लफंगों के साथ तुम्हारी मौज-मस्ती बड़ी बेशर्म है !


साथ रहकर इनके ज़िंदगी में सुकून नहीं पाओगे !! 


*************************


किसी की शराफ़त भी समझना आसान नहीं आजकल ! 


गुंडे मवाली भी वक्त आने पर शराफ़त का चोला पहन लेते हैं !! 


*************************


कद्र करिए शरीफों की तो शायद कुछ माहौल बदल जाए ! 


वरना यहाँ गुंडे तो हमेशा अपना गैंग बनाकर रखते हैं !!


*************************


बुरे वक्त में किसी शरीफ़ का साथ निभा कर देखो ! 


तय है शराफ़त की कीमत ठीक से तुम जान जाओगे !! 


************* तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !


Popular posts
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संजय द्विवेदी पीएचडी पात्र हेतु घोषित,राजेन्द्र माथुर का हिंदी पत्रकारिता में योगदान पर किया शोध
Image
बस्ती जनपद का स्थापना दिवस मनाया गया, एमएलसी सुभाष यदुवंश ने काटा केक,हुई भव्य आरती, कवि सम्मेलन,
Image
वाजा इंडिया" की नई कार्यकारिणी घोषित,वरिष्ठ पत्रकार पी. बी. वर्मा अध्यक्ष,शिवेन्द्र प्रकाश द्विवेदी महासचिव बने
Image
डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन नेशनल बिल्डर इनोवेटिव टीचर अवार्ड से अलंकृत हुये आर्टिस्ट चंद्रपाल राजभर
Image