SO विनय तिवारी ने विकास दुबे के मुकदमे में हटवा दी थी धारा, शहीद सीओ ने कार्रवाई के लिए एसएसपी को लिखी थी चिट्ठी


कुख्यात अपराधी विकास दुबे से निलंबित थानेदार विनय कुमार तिवारी से याराना संबंध थे। एक मुकदमे से वसूली के लिए धमकी की धारा 386 हटवा दी थी। इसकी रिपोर्ट बिकरू कांड में शहीद सीओ देवेंद्र मिश्र ने तत्कालीन एसएसपी को भेजी थी। रिपोर्ट में विनय तिवारी की सत्यनिष्ठा संदिग्ध बताते हुए कार्रवाई की संस्तुति की थी लेकिन सभी चुप्पी साधे रहे।


सीओ ने पहले ही गंभीर घटना की दी थी चेतावनी


सीओ बिल्हौर रहे देवेंद्र मिश्र ने 14 मार्च 2020 को चौबेपुर थाने का निरीक्षण किया था। इस दौरान पता चला कि 13 मार्च को विकास दुबे के खिलाफ वसूली के लिए धमकी, बलवा, मारपीट, जान से मारने की धमकी की एफआईआर दर्ज हुई थी। जांच चौबेपुर थाने के दरोगा अजहर इशरत को सौंपी गई। अगले ही दिन विवेचक अजहर ने मुकदमे से वसूली के लिए जान से मारने की धमकी देने की धारा 386 हटा दी। सीओ ने पूछा तो दरोगा ने बताया कि थानेदार के कहने पर हटाई गई।


इसी दिन सीओ ने चौबेपुर थानेदार रहे विनय तिवारी के खिलाफ एसएसपी को रिपोर्ट भेजी। इसमें लिखा कि एक दबंग कुख्यात अपराधी के विरुद्ध थानाध्यक्ष द्वारा सहानुभूति रखना अब तक कार्रवाई न करना सत्य निष्ठा को संदिग्ध करता है। सीओ की रिपोर्ट के मुताबिक निलंबित थानेदार विनय तिवारी का विकास दुबे के घर आना जाना था। यदि थानेदार के खिलाफ कार्रवाई न की गई तो कोई गंभीर घटना हो सकती है। यह रिपोर्ट पुलिस कार्यालय आई और फाइलों में दब गई। नतीजा यह निकला कि विकास दुबे बेखौफ हो गया तो सीओ समेत 8 पुलिस कर्मचारियों की हत्या कर दी।


Popular posts
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
दिल्ली:- 12 साल के लड़के ने 18 साल की लड़की को किया गर्भवती, अस्पताल में बच्चे को जन्म देकर लड़की ने किया खुलासा
Image
खलीलाबाद से बहराइच तक रेल लाइन बिछेगी, डीपीआर रेलवे बोर्ड को प्रेषित
Image
ग़ज़लों की महफ़िल (दिल्ली) का नए चरण में हुआ प्रवेश,दसवीं कड़ी में मशहूर ग़ज़ल गायक दयानन्द ने बाँधा अनोखा समाँ,मन्त्रमुग्ध होकर घंटों सुनते रहे श्रोता
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image