मुजफ्फरनगर:-गोड़िया मठ आश्रम में होता था बच्चों का यौन शोषण,मामला प्रकाश में आने के बाद यहां से 10 लड़कों को बचाया गया


मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर से एक हैरान करने वाले खबर सामने आ रही है। यह खबर एक बार फिर से मानवता को शर्मसार करने वाली है। यहां के एक आश्रम में बच्चों के साथ यौन उत्पीड़न किया जाता था। इतना ही नहीं, इन बच्चों से मजदूरी भी करवाई जाती थी। मामला प्रकाश में आने के बाद यहां से 10 लड़कों को बचाया गया है। यह आश्रम मुजफ्फरनगर में भोपा थाना क्षेत्र के तीर्थ नगरी के नाम से विख्यात शुक्र तीर्थ स्थित गोड़िया मठ आश्रम के नाम से जाना जाता है। यहां बुधवार को 1098 पर आई शिकायत के बाद चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम ने आश्रम में छापेमारी की थी। मौके से 8 बच्चे को मुक्त कराया गया जबकि 2 बच्चों को आश्रम के लोगों ने गायब कर दिया था। इसके बाद उन्हें भी बंधन मुक्त कराया गया। इन बच्चों को मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल ले जाया गया जहां इस बात की पुष्टि हुई है। इनमें से चार बच्चों के साथ कुकर्म किए गए है। यह घटना सामने आते ही सभी हैरानी में पड़ गए।


प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक इन बच्चों को त्रिपुरा, मिजोरम और असम से आश्रम में लाया गया था। मुक्त कराए गए बच्चों के उम्र 7 से 10 वर्ष के बीच में ही है। इन बच्चों को पढ़ाई का झांसा देकर आश्रम में लाया गया था। लेकिन यहां उनके साथ कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया गया। उन्हें मारा-पीटा गया और जानवरों की देखरेख करने के लिए मजबूर किया गया। इतना ही नहीं, इन बच्चों से मठ के बर्तन साफ करवाए जाते थे, झाड़ू लगवाए जाते थे। इन बच्चों ने आश्रम के महंत भक्ति भूषण गोविंद पर शराब पिलाकर अश्लील वीडियो दिखाकर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। अगर बच्चे इसकी बात नहीं मानते थे तो उन्हें भूखा रख दिया जाता था और पिटाई की जाती थी। बच्चों ने अपने चोट के निशान भी दिखाएं।


मुजफ्फरनगर के जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने इस मामले को गंभीर बताया है। वही महंत भक्ति भूषण के खिलाफ आईपीसी की धारा 377 के साथ-साथ यौन अपराधों के बच्चों के संरक्षण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आश्रम के संचालक भक्ति भूषण गोविंद से पुलिस पूछताछ कर रही है। इन बच्चों को गुरुवार को सीडब्ल्यूसी के समक्ष पेश किया गया था। यही पर बच्चों ने आश्रम के महंत पर साधु से शैतान बनने की दास्तान बनने की कहानी बताई और अपना बयान दर्ज करवाया। फिलहाल इस मामले को गंभीरता से लेते हुए यूपी पुलिस की टीम जांच पड़ताल शुरू कर चुकी है। वही मौका ए वारदात पर फॉरेंसिक टीम भी पहुंची और छानबीन की जा रही है।


Popular posts
बस्ती मंडल के नए डीआईजी श्री आर के भारद्वाज,अलीगढ़ के मूल निवासी है श्री भारद्वाज
Image
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
बस्ती:सफलता के क्रम में बृजेश उपाध्याय को मिली पुनः उपलब्धि,जनपद का बढ़ाया मान,यूपीएससी परीक्षा में दुबारा रैंक हासिल किया
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
बस्ती:-जिलाधिकारी प्रियंका निरंजन ने चार्ज ग्रहण किया,मीटिंग में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी किया।
Image