जिला महिला चिकित्सालय बना दलाली का अड्डा,सदर छेत्र की आशाओं का सरकारी कार्यक्रम को छोड़ कर बना कमाई का जरिया।


बस्ती। । जिला महिला चिकित्सालय में सुबिधा के अभाव में बना दलाली का अड्डा, सदर छेत्र की आशाओं का सरकारी कार्यक्रम को छोड़ कर बना कमाई का जरिया।


जिला अधिकारी के द्वारा आशाओ का पैसा रोके जाने के बाद भी सरकारी कार्यक्रमो में रुचि ना लेकर दिनभर महिला चिकित्सालय में लगा रहता है जमावड़ा ,दलालो द्वारा लाभार्थी को बहला फुसला कर स्टाफ की मिली भगत से रिफर करा कर प्राइवेट हास्पिटल में ले जाकर 5 से 8 हजार का कमीशन ले कर करा देती हैं डिलेवरी।


 आखिर ऐसा क्या है जो महिला हास्पिटल के लोगो द्वारा रिफर करने के बाद प्राइवेट हास्पिटल में हो जाता है डिलेवरी ,यह कमीशन खोरी का धंधा सालो से चलता आरहा है।मुख्य चिकित्साधिकारी से लेकर जिला अधिकारी तक नही लगा पा रहे है लगाम।


Popular posts
संजय द्विवेदी पीएचडी पात्र हेतु घोषित,राजेन्द्र माथुर का हिंदी पत्रकारिता में योगदान पर किया शोध
Image
बंधन में बँधना मेरी क़ैफ़ियत को गवारा नहीं कभी – कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
वाजा इंडिया" की नई कार्यकारिणी घोषित,वरिष्ठ पत्रकार पी. बी. वर्मा अध्यक्ष,शिवेन्द्र प्रकाश द्विवेदी महासचिव बने
Image
सहजयोग नेशनल ट्रस्ट, नई दिल्ली द्वारा पूरे भारत में कुण्डलिनी जागरण के माध्यम से आनलाइन ‘‘लाइव आत्मसाक्षात्कार, का आयोजन
Image