सुरंग में घुसी ये ट्रेन फिर ऐसे गायब हुई कि आज तक पता नहीं, ट्रेन में सवार 106 लोग भी हुए थे लापता

रोचक खबर। हमारी दुनिया बहुत बड़ी है जहाँ तरह तरह के अजीबो-गरीब रहस्य भरे पड़े हैं। कुछ को तो सुलझा लिया गया लेकिन सैकड़ों रहस्य आज भी अनसुलझे हैं। दुनिया में कई ऐसी घटनाएं ऐसी घटित होती हैं, जिनपर विश्वास करना उतना ही कठिन होता है, जितना कि कुछ लोगों का भगवान के अस्तित्व पर यकीन करना. ऐसी घटनाओं पर यकीन इसलिए भी नहीं होता क्योंकि इनको किसी ने होते हुए नहीं देखा होता है, बस उनके होने का अनुमान लगाया जाता है। ऐसी ही एक घटना हुई 1911 में जब एक ट्रेन एक सुरंग में घुसते ही लापता हो गई। जिसके बारे में आजतक कुछ पता नहीं चला।


आपकी जानकारी के लिए बता दे की ये घटना रोम की है। साल 1911 में जेनेटी नाम की एक ट्रेन रोमन स्टेशन से रवाना हुई थी। इस बीच ट्रेन को एक सुरंग से होकर गुजरना था, लेकिन यह ट्रेन जैसे ही सुरंग में घुसी, वो अचानक गायब हो गई। इस दौरान ट्रेन की खूब खोजबीन की गई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। यहां तक कि इस ट्रेन के बारे में आजतक कुछ पता नहीं चला। इस ट्रेन में 106 लोग भी सवार थे। ट्रेन के साथ ये लोग भी लापता हो गए. 



हालांकि कुछ समय बाद उसी ट्रेन में सवार दो लोग सुरंग के बाहर मिले थे। उन्होंने एक ऐसी हैरतअंगेज घटना बताई कि जिसे सुनकर सभी दंग रह गए। उनका कहना था कि जैसे ही ट्रेन सुरंग के पास आई, वहां से एक रहस्यमयी धुंआ निकल रहा था। इसको देखकर वो काफी घबरा गए और ट्रेन से कूद गए। इसके बाद ट्रेन सुरंग में घुसी और वो वापस कभी नहीं निकली।



इस रहस्यमयी घटना के बारे में कहा जाता है कि यह ट्रेन अपने समय से 71 साल पीछे यानि कि भूतकाल में चली गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह ट्रेन सन् 1840 में मेक्सिको में पहुंच गई थी। इसीलिए इसे भूतिया ट्रेन भी कहा जाता है।


Popular posts
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के संस्थापक स्वर्गीय बाबू बालेश्वर लाल की 35वीं पुण्यतिथि को पत्रकारिता दिवस के रूप में में मनाया गया
Image
खलीलाबाद से बहराइच तक रेल लाइन बिछेगी, डीपीआर रेलवे बोर्ड को प्रेषित
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image