यूपी के औरैया में मजदूरों की मौत को अखिलेश यादव ने हत्या करार दिया,मृतक आश्रितो को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा भी की


उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में 24 प्रवासी मजदूरों की सड़क दुर्घटना में हुई मौत को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने हत्या करार दिया है. उन्होंने सड़क हादसे पर दुख जाहिर करते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि सब कुछ जानकर, सब कुछ देखकर भी, मौन धारण करने वाले हृदयहीन लोग और उनके समर्थक देखें कब तक इस उपेक्षा को उचित ठहराते हैं. ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या हैं.


पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने पार्टी की तरफ से सभी मृतक परिवार को एक-एक लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा भी की है. साथ ही यूपी सरकार से मजदूरों की मौत की जिम्मेदारी लेने और प्रत्येक मृतकों के परिजनों के लिए दस लाख रुपये की मदद देने की मांग की है.


अखिलेश यादव ने लिखा, 'यूपी के औरैया में सड़क हादसे में 24 से भी अधिक गरीब प्रवासी मजदूरों की मौत पर अवर्णनीय दुख. घायलों के लिए दुआएं. सब कुछ जानकर, सब कुछ देखकर भी, मौन धारण करनेवाले हृदयहीन लोग और उनके समर्थक देखें कब तक इस उपेक्षा को उचित ठहराते हैं. ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या हैं.'


उन्होंने पार्टी फंड से सभी मृतक परिवारों को एक लाख रुपये की सहायता राशि देने का भी ऐलान किया है. उन्होंने लिखा, 'घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों के मारे जाने की खबरें दिल दहलानेवाली हैं. मूलत: ये वो लोग हैं जो घर चलाते थे. इसलिए समाजवादी पार्टी प्रदेश, प्रत्येक मृतक के परिवार को 1 लाख रु की मदद पहुंचाएगी. नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए निष्ठुर भाजपा सरकार भी प्रति मृतक 10 लाख रु की राशि दे.'


शनिवार तड़के 3 तीन बजे उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में प्रवासी मजदूरों से भरी डीसीएम में ट्रक ने टक्कर मार दी. इस सड़क दुर्घटना में 24 मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. सभी घायलों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है. घायलों की गंभीर हालत को देखते हुए मृतकों की संख्या में इजाफा होने की आशंका जताई जा रही है.


औरेया की एसपी सुनीति सिंह और कई थानों की पुलिस मौके पर मौजूद है. पुलिस राहत और बचाव कार्य में जुटी है. जो लोग गंभीर रूप से घायल हैं उनको कानपुर के हैलट अस्पताल में रेफर किया गया है. घटना के वक्त अंधेरा था, इसलिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने में काफी दिक्कत आई. प्रशासन के साथ आसपास के लोगों ने मदद की और घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया.