मिल्लत नगर एवं गिदही खुर्द,कन्टेनमेंट जोन से ऑरेंज जोन में तब्दील हुए,मिलेंगी ऑरेंज जोन की सुविधाएं,28 दिनों से कोई नए केस नहीं


बस्ती। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले के दो  जोन कोरोना से जंग जीत कर कन्टेनमेंट से ग्रीन जोन में तब्दील हो गए हैं। विगत 28 दिनों से इन इलाकों में कोरोना के कोई नए केस नही दिखाई पड़ी है ।
उन्होंने बताया कि जनपद के मिल्लतनगर और  गिदही खुर्द में कोरोना के केस मिलने के बाद इन इलाकों को ने हॉटस्पॉट एरिया वर्तमान में कन्टेनमेंट घोषित किया गया था। पिछले 28 दिनों में इन इलाकों में कोरोना के कोई नए केस सामने नहीं आए, जिन मरीजों को कोरोना की पुष्टि हुई थी वो भी अब ठीक हो कर घर भेजे जा चुके हैं। डीएम ने आदेश जारी कर इन कन्टेनमेंट जोन को खत्म कर ऑरेंज जोन में तब्दील कर दिया। इन क्षेत्रों में ऑरेंज ज़ोन की तरह मिलेगी सुविधा मिलेंगी इन क्षेत्रों से बैरिकेटिंग और पुलिस की ड्यूटी हटा दी जाएगी। परन्तु इन क्षेत्रों के लोगों को अभी भी सोशल डिस्टेंसिंग प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक आवश्यक काम और जरूरी खरीदारी करना होगा।



उन्होंने आगे बताया कि जिले में कुल 5 कन्टेनमेंट जोन (हॉटस्पॉट क्षेत्र) बनाये गए थे जिसमें से अब केवल 3 कंटेंटमेंट ज़ोन तुरकहिया, परसा जाफर और जमोहरा गांव बचे है, इन क्षेत्रों में भी पिछले कई दिनों से कोई नए केस न मिलने से जल्द ही ये क्षेत्र भी ऑरेंज जोन में शामिल किए जा सकते हैं। जनपद में अबतक कुल 42 कोरोना के केस की पुष्टि हुई थी जिसमे से एक मरीज हसनैन की मृत्यु हो चुकी है और 22 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं, इस वक़्त कुल 19 कोरोना के एक्टिव केस हैं,इनमे 2 मेडिकल कालेज एल 2 और बाकी मुण्डेरवां सीएचसी एल 1 अस्पताल में भर्ती हैं। सभी प्रवासी मज़दूर के जो महाराष्ट्र के विभिन्न क्षेत्रों से आये हैं।
जिलाधिकारी ने जनपद वासियों को नियमो के पूर्णतया पालन करने पर धन्यवाद देते हुए कहा कि 
उन्हें घबराने की कोई जरूरत नहीं है स्थिति पूर्ण रूप से प्रशासन के नियंत्रण में है।जनपद वासियों के पूर्ण सहयोग से जल्द ही जिला ग्रीन किया जा सकता है।