जिन्दा को मुर्दा बता कर कैली अस्पताल ने लाश घर भेजा, पिता ने लाश पहचानने से इंकार किया


बस्ती, संतकबीरनगर जिले से चौंकाने वाली खबर आ रही है। यहां बस्ती के कैली अस्पताल में भर्ती युवक जिंदा है और उसकी मौत की सूचना परिजनों को देकर मंगलवार भोर में एबुंलेंस से शव भेज दिया गया. 


मिली जानकारी के मुताबिक कुआनो नदी के मुखलिसपुर घाट पर पुलिस की मौजूदगी में शव को अंतिम संस्कार को ले जाया गया जहां पिता ने चेहरा देखा तो बेटे का शव नहीं होने से इनकार कर दिया। दरअसल शव धर्मसिंहवा इलाके के महादेवा नानकार के 47 वर्षीय पॉजिटिव शख्स का निकला।


पॉजिटिव शख्स भी कैली अस्पताल में भर्ती था और सोमवार रात में ही उसकी मौत हो गई थी।


डीएम रवीश गुप्ता ने बताया कि महुली इलाके के मथुरापुर गांव का 25 वर्षीय युवक बस्ती कैली में कमरा नंबर 229 में बेड नंबर 5 पर भर्ती है और जीवित है। जबकि धर्मसिंहवा के महादेवा नानकार के रहने वाले पाजिटिव 47 वर्षीय शख्स की मौत कैली में हुई थी।


फोन से गलत सूचना दिए जाने से गलतफहमी हुई। मथुरापुर के युवक की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। मृतक पॉजिटिव महादेवा नानकार के शख्स के शव का अंतिम संस्कार कोविड के प्रोटोकॉल के अनुसार होगा। इस पूरे प्रकरण की जांच कराई जाएगी।