पुलिस के रोकते ही महिलाओं ने किया ड्रामा,गाड़ी के कागज चाभी दूर फेंके,देखे वीडियो


लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में लॉकडाउन के दौरान पुलिस लगातार सख्ती बरत रही है। लोग भी इस सख्ती का स्वागत कर रहे हैं, लेकिन कुछ लोग हैं जिन्हें पुलिस की चेकिंग नागवार गुजर रही है। ऐसा ही एक मामला गौतमपल्ली थाना क्षेत्र में देखने को मिला। यहां कार सवार युवतियों को जब लोहिया पथ पर पुलिस ने बैरिकेडिंग प्वॉइंट पर रोका तो वह भड़क गईं। पुलिस के रोकने में अपनी तौहीनी समझ युवतियां हाईप्रोफाइल इलाके में हाईवोल्टेज ड्रामा करने लगीं। युवतियों के ड्रामे का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इसके बाद पुलिस कमिश्नर सुजीत कुमार पांडेय ने मामले की जांच कराकर कार्रवाई की बात कही है। कमिश्नर ने कहा कि युवतियों पर लॉकडाउन का उल्लंघन करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाएगा।


देखे वीडियो


https://youtu.be/T5FbDd0B6Ts


जानकारी के अनुसार, मामला गौतमपल्ली थाना क्षेत्र की है। यहां रोज की तरह लोहिया पथ पर जियामऊ के पास फूटओवर ब्रिज के पास पुलिस बैरिकेडिंग लगाकर लॉकडाउन का पालन कराने के लिए चेकिंग कर रही थी। तभी कार में तीन महिलाएं बैठकर आती दिखाई दीं। पुलिस ने कार रोकी तो वह भड़क गईं। ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों से युवतियां भिड़ गईं और बहसबाजी करने लगी। युवतियां बीच सड़क पर हाईवोल्टेज ड्रामा करने लगी और गाड़ी के कागज फेंक दिए। पड़ताल में पता चला कि इन महिलाओं को पहले 1090 चौराहे पर रोका गया, यहां पूछताछ के बाद जाने दिया गया। लेकिन ये आगे जैसे ही जियामऊ मोड़ के पास पहुंचीं, तो वहां पुलिस ने चेकिंग के लिए रोक लिया। इसके बाद ये यहां पुलिस पर भड़क गईं।


अचानक कार चला रही महिला ने पुलिस पर ही परेशान करने का आरोप लगाते हुए चिल्लाना शुरू कर दिया। कार चला रही महिला ने गुस्से में गाड़ी के कागज भी फेंक मारे। इसके बाद कार से बाहर निकली और चिल्लाते-चिल्लाते रोने लगी। इस दौरान उसकी साथी ने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन हाईवोल्टेज ड्रामा काफी समय तक चलता रहा। आखिरकार गौतमपल्ली पुलिस ने कार का चालान कर दिया। इस घटना का वीडियो वायरल हो गया।


दरअसल, ये महिलाएं खुद को गोमतीनगर की रहने वाली बता रही थीं। कार में एक अधेड़ उम्र की महिला थी, जिसकी तबियत खराब होने और कमांड हॉस्पिटल दिखाने ले जाने का ये दावा कर रही थीं। इस पूरे मामले पर पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने कहा कि मामले में कमांड हॉस्पिटल प्रशासन से पता किया जा रहा है कि ये महिलाएं वहां इलाज के लिए जा रही थीं या नहीं। अगर ये वहां इलाज के लिए वहां नहीं गई हैं तो इनके खिलाफ लॉकडाउन तोड़ने को लेकर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाएगा।


Popular posts
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संजय द्विवेदी पीएचडी पात्र हेतु घोषित,राजेन्द्र माथुर का हिंदी पत्रकारिता में योगदान पर किया शोध
Image
बस्ती जनपद का स्थापना दिवस मनाया गया, एमएलसी सुभाष यदुवंश ने काटा केक,हुई भव्य आरती, कवि सम्मेलन,
Image
वाजा इंडिया" की नई कार्यकारिणी घोषित,वरिष्ठ पत्रकार पी. बी. वर्मा अध्यक्ष,शिवेन्द्र प्रकाश द्विवेदी महासचिव बने
Image
डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन नेशनल बिल्डर इनोवेटिव टीचर अवार्ड से अलंकृत हुये आर्टिस्ट चंद्रपाल राजभर
Image