मोदी ने 3 मई तक लाक डाउन बढ़ाने के साथ ही देश की जनता से क्या कहा,जानिए संबोधन की 15 बड़ी बड़ी बाते


नई दिल्‍ली: पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस  के खिलाफ जंग में कदम आगे बढ़ाते हुए देश में लॉकडाउन की अवधि 3 मई तक बढ़ा दी. देश के संबोधित करते हुए उन्होंने जनता को कई स्थितियों के बारे में बताया. आइए जानते हैं, उनके संबोधन की बड़ी बातें...


1. कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में भारत बहुत मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है. आपके त्याग और तपस्या की वजह से भारत कोरोना से होने वाले नुकसान को काफी हद तक टालने में सफल रहा है.


2. आपको कितनी दिक्कते आई हैं. किसी को खाने की परेशानी, आने-जाने की परेशानी, कोई घर परिवार से दूर है, लेकिन आप एक सिपाही की तरह अपने कर्तव्य निभा रहे हैं. हमारे संविधान में जो वी द पीपल की बात कही गई है, वही तो है ये.


3. बाबासाहेब का जीवन हमें हर चुनौती को अपने संत्प शक्ति से पार करने की निरंतर प्रेरणा देता है. मैं सभी देशवासियों की तरफ से बाबासाहेब को नमन करता हूं. 


4. ये देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग त्योहारों का समय है. लॉकडाउन के बंधन के बीच देश के लोग जिस तरह नियम का पालन कर रहे हैं. अपने घरों में रहकर त्योहार बड़ी सादगी से मना रहे हैं. ये बहुत प्रशंसनीय और प्रेरक है. मैं आपके परिवार के उत्तम स्वास्थ्य की मंगलकामना करता हूं.
5. अन्य देशों के मुकाबले भारत ने कैसे अपने यहां संक्रमण रोकने का प्रयास किया है, आप इसके सहभागी रहे हैं. जब यहां एक भी मामला नहीं था तभी यहां एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग शुरू कर दिया गया. जब संख्या 100 तक पहुंचा, आइसोलेशन शुरू कर दिया गया. जब 550 केस था, तभी भारत ने 21 दिन के लॉकडाउन का कदम उठा लिया. समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया.


6. ये एक ऐसा संकट है जिसका किसी भी देश के साथ तुलना करना सही नहीं है. अगर दुनिया के बड़े सामर्थ्यवान देशों के आंकड़े देखें तो भारत बहुत संभली हुई स्थिति में है. उन देशो में हजारों लोगों की दुखद मृत्यु हो चुकी है. अगर भारत ने होलिस्टीक और इंटीग्रेटेड अप्रोच ना अपनाई होती, तेज फैसले नहीं लिए होते तो भारत की स्थिति क्या होती, इसकी कल्पना करते ही रोंगटे खड़े हो जाते है. हमने जो रास्ता चुना है, वही हमारे लिए सही है. सोशल डिस्टेंसिंग का बहुत बड़ा लाभ देश को मिला है. 


7.  आर्थिक दृष्टिकोण से बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है. सीमीत साधनों में भारत जिस रास्ते पर चला है उसकी चर्चा होना स्वाभाविक है. लेकिन भारतवासियों की जिंदगी के आगे इसकी कोई तुलना नहीं हो सकती. साथियों इन सब प्रयासों के बीच कोरोना जिस तरह फैल रहा है, उसने विश्वभर में हेल्थ एक्सपर्ट और सरकारों को अलर्ट कर दिया है.


8.  अब आगे कैसे बढ़े, हमारे यहां नुकसान कम कैसे हो, लोगों की दिक्कते कैसे कम हो, राज्यों के साथ निरंतर चर्चा की है. हर किसी का यही सुझाव आता है कि लॉकडाउन को बढ़ाया जाए. कई राज्य पहले ही बढ़ाने का फैसला कर चुके हैं. भारत में लॉकडाउन को 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा. इस दौरान हमें अनुशासन का वैसे ही पालन करना होगा जैसे हम करते आ रहे थे. अब कोरोना को हमे किसी भी कीमत पर नये क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है.


9. कहीं पर भी कोरोना से एक भी मरीज की दुखद मृत्यु होती है तो हमारी चिंता बढनी चाहिए. हॉटस्पॉट को पहले से ज्यादा चिन्हित कर सतर्कता बरतनी होगी. नये हॉटस्पॉट का बनना हमारे परिश्रम और तपस्या को संकट पैदा करेगा. 


10. 20 अप्रैल तक हर कस्बे, थाने, जिले, राज्य को बड़ी बारीकी से परखा जाएगा. लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने खुद को कितना बताया है, इसका मूल्यांकन होगा. जो अपने यहां हॉटस्पॉट को नहीं बढने देंगे, वहां 20 अप्रैल से थोड़ी गतिविधि की अनुमति दी जा सकती है, लेकिन बाहर निकलने के नियम काफी सख्त होंगे. अगर कोरोना का पैर हमारे इलाके में फैलता है तो अनुमति वापस ले ली जाएगी.


11. कल सरकार की तरफ से विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी. 20 तारीख से छूट का प्रावधान हमारे गरीब परिवार को ध्यान में रखकर लिया गया है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से उनकी मदद का पूरा ध्यान रखा गया है. रबी फसल की कटाई का काम जारी है. केन्द्र और राज्य सरकार पूरा ध्यान रख रही है. राशन का देश में पूरा इंतजाम है.


12. 220 से ज्यादा लैब टेस्टिंग का काम कर रहे है. विश्व का डेटा कहता है कि कोरोना के 10000 मरीज होने पर 1600 बेड की जरुरत होती है. हम एक लाख बेड का इंतजाम कर चुके है. आज भारत के पास सीमीत संसाधन हो, लेकिन भारत के युवा वैज्ञानिकों से आग्रह है कि विश्व कल्याण मानव कल्याण के लिए आगे आएं. वैक्सीन बनाने का बीड़ा उठाएं.
13 मैं आपका साथ मांग रहा हूं, 7 मांगें मांग रहा हूं : 
- अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें, खासकर जिन्हे पुरानी बीमारी है.
- सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करें, घर में बने फेस मास्क का ही प्रयोग करे.
- अपनी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देश का पालन करें. गर्म पानी और काढ़ा पीएं.
- आरोग्य सेतु मोबाइल एप जरूर डाउनलोड करें और दूसरों को भी प्रेरित करें.
- जितना हो सके, गरीब परिवार की देख रेख करें.
- अपने व्यवसाय, उद्योग में काम करने वाले लोगों के प्रति संवेदना रखें, उन्हें काम से न निकालें.
- देश के कोरोना योद्धाओं का सम्मान करें.


14. जहां रहें, वहीं रहें, सुरक्षित रहें. निष्ठा से लॉकडाउन का पालन करें. 


15. आपके परिवार के उत्तम स्वास्थ्य की मंगलकामना करता हूं.


Popular posts
बस्ती की नई डीएम प्रियंका निरंजन,2013 बैच की आईएएस अफसर है प्रियंका निरंजन।
Image
पापमोचिनी एकादशी व्रत रखना बहुत पुण्य कारक है आप भी रहे ब्रत
Image
बस्ती रियासत के पूर्व राजा एवं पूर्व विधायक राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की पुण्य तिथि पर श्रद्धांजलि सभा का हुआ आयोजन, उनके चित्र पर पुष्प अर्पित पर हवन कर उन्हें श्रद्धांजलि दी
Image
सत्य को जानने का सर्वाधिक सरल मार्ग है सहज योग, जिसके माध्यम से जीवन सुखमय और आनंदमय हो जाता है :-डॉ ए के चौहान
Image
पूर्व विधायक राणा कृष्ण किंकर सिंह की मोटरसाइकिल को चोरी करके फूकने वाला गिरफ्तार,अभियुक्त के पास गाजा,असलहा भी बरामद
Image