लाक डाउन में प्रेमी से मिलने 70 किमी पैदल चली प्रेमिका,पुलिस ने दी नसीहत


शाहजहांपुर। कोरोना वायरस के खौफ और लॉकडाउन के बीच शाहजहांपुर से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक प्रेमिका ने अपने प्रेमी से मिलने के लिए 70 किलोमीटर की दूरी पैदल ही तय की और उसके घर पहुंच गई। लेकिन प्रेमी के घर वालों ने उसे मिलने नहीं दिया। युवती अपने प्रेमी से मिलने के लिए घर की चौखट पर ही गिड़गिड़ाने लगी, लेकिन घरवालों ने प्रेमी से मिलाने के बजाय हंगामा खड़ा कर दिया।


मामला शाहजहांपुर थाने का बंडा इलाके का है, जहां पीलीभीत जिले की रहने वाली प्रेमिक 70 किलोमीटर पैदल चलकर पहुंची गई। दरअसल, युवती की शादी जनपद के थाना बंडा क्षेत्र के गांव पड़री चांदूपुर में तय हुई थी। लेकिन, एक साल गुजर जाने के बाद भी प्रेमिका के घरवालों ने उसकी शादी प्रेमी से नहीं कराई। शादी कराने की जगह घरवाले बहानेबाजी करने लगे। इससे परेशान होकर युवती ने प्रेमी से मिलने के लिए लॉकडाउन की सारी हदें पार करते हुए गांव पड़री चांदूपुर पहुंच गई।


युवती ने प्रेमी के घर पहुंचकर शादी की जिद शुरू कर दी, जिस पर प्रेमी के घरवालों ने हंगामा शुरु कर दिया। घरवालों ने इसके बाद लड़के और युवती को घर से बाहर निकल दिया। घर से निकाले जाने के बाद दोनों प्रेमी युगल अपनी फरियाद लेकर थाना बंडा पहुंचे, जहां पुलिस ने लॉकडाउन का हवाला देते हुए दोनों को घर जाने के लिए कहा। इस दौरान पुलिस ने दोनों को लॉकडाउन उल्लंघन की बात कहते हुए चेतावनी भी दी और घर लौटने का निर्देश दिए।


कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा 24 मार्च को की थी। लॉकडाउन की घोषणा होने के बाद ट्रेन से लेकर बसों तक का परिचालन बंद है। साथ ही अतिजरूरी काम को छोड़कर अनय काम के लिए घर से बाहर निकलने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। पुलिस और प्रशासन इसे सख्‍ती से लागू कराने में जुटा है, ताकि सोशल डिस्‍टेंसिंग को बरकरार रखते हुए कोरोना वायरस संक्रमण के चेन को तोड़ा जा सके।


Popular posts
सेंट एंथोनी कॉन्वेंट स्कूल डेयरी कॉलोनी गोरखपुर में महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के जन्मदिन पर गीत संगीत और नृत्य का हुआ आयोजन
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
बस्ती के नए सीडीओ राजेश कुमार प्रजापति,
Image
ईमानदारी का मिसाल बना ऑटो चालक यूसुफ ने अपनी सवारी का रुपये से भरा पर्स पाने पर पुलिस को लौटाया
Image
प्रतिकार फिल्म चौरी चौरा 1922 में सांसद रवि किशन की दमदार भूमिका,, सीन देख कर दर्शकों की विभिन्न प्रतिक्रिया
Image