218 फास्टेक कोर्ट की स्थापित होगे,145 में रेप की घटनाओ की सुनवाई की तत्काल सुनवाई, मुख्यमंत्री
योगी मन्त्रिमण्डल का बड़ा फैसला::218 फास्टेक कोर्ट की मंजूरी,145 में रेप की घटनाओ की सुनवा


लखनऊ- 9दिसम्बर।उन्नाव जिले में गैंगरेप के बाद जिंदा जलाए जाने, उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से सामने आई घटनाओं को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट में सोमवार को 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। बता दें कि 218 में से 144 कोर्ट में रेप मामलों की ही सुनवाई होगी। इससे मामलों के निस्तारण में तेजी आएगी। इससे तकरीबन 16,350 लाख रुपये प्रतिवर्ष का वित्तीय भार पड़ेगा। प्रत्येक न्यायालय पर 75 लाख रुपये प्रति वर्ष खर्च किए जाने की बात कही गई है।


बता दें कि उन्नाव में गैंगरेप के बाद पीड़िता को जिंदा जला दिया गया था। इसके बाद पीड़िता ने शुक्रवार रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया था। पीड़िता की मौत के बाद सभी विपक्षी दलों ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) समेत राज्य की योगी और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया। आनन-फानन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरफ से मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराए जाने के निर्देश दिए गए थे।


यूपी के अलग-अलग हिस्सों में वारदातें
हाल ही में हरदोई, कानपुर, बहराइच समेत कई अन्य जिलों से रेप की घटनाएं सामने आईं। इन घटनाओं के बाद सवाल उत्तर प्रदेश की प्रशासनिक व्यवस्था पर उठने लगा। साथ ही यूपी की योगी सरकार को भी घेरा जाने लगा। इसके बाद योगी कैबिनेट द्वारा यह अहम फैसला लिया गया है।


रविवार को दफनाया गया शव
उन्नाव गैंगरेप केस मामले में रविवार को पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया था। अंतिम संस्कार से पहले पीड़िता के परिवारवाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग कर रहे थे। हालांकि, शासन-प्रशासन द्वारा काफी समझाने के बाद परिवार मान गया और पीड़िता को दफना दिया गया। सरकार की ओर से ऐलान किया गया कि पीड़िता की बहन को सरकारी नौकरी और भाई को शस्त्र का लाइसेंस मिलेगा। इससे पहले सरकार की ओर पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये का मुआवजा भी दिया गया था।



Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image