रामकृष्न लाल जगमग जी को विवाह 49वी वर्षगाठ पर लोगो ने बधाई दिया

 


रामकृष्न लाल जगमग जी को विवाह 49वी वर्षगाठ पर समर्पित

प्यार चढ़े परवान आपका अर्धशती होने को आई

अभिज्ञान शकुन्तलम की प्रेमकथा, कविता में बनकर है छाई।।

प्रखर आप की बुद्धि ऐसी विनय विवेक से भरी रहे

अपराजित जीवन हो आपका, तेजस्विता बनी रहे।।


संजय बन अभिषेक करूऔर पाठ करु भगवत गीता

राम के जैसे तुम हो जगमग और शकुन्तला है सीता।।


पीयूस उत्पल अजय तुम्हारे फूल खिले है बगिया मे

भावर जैसे घूम रही हो लहरे यू ही नदिया मे।।


नयी उमगें नयी तरगें फिर से आये सावन मे

एक नया युग फिर लायेगा प्यार तुम्हारे जीवन मे।।

                     कवि- डा पंकज कुमार सोनी

                     मोबाइल 9335072806

Popular posts
ऑन लाईन कार्यक्रमों को बढ़ावा,वर्तमान समय की मांग
Image
गुरु अर्जन देव जी का 415 शहीदी वा गुरपूर्व बड़े ही श्रद्धा एम सादगी के साथ मनाया गया
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
उत्तर प्रदेश में COVID-19 के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों से जुड़ी सरकारी योजनाओं और सुविधाओं पर समझ बनाने हेतु राज्य स्तरीय परिचर्चा का हुआ आयोजन
Image
बस्ती में नाइट कर्फ्यू का आगाज,रात 9बजे से सुबह 6बजे तक रहेगा कर्फ्यू,आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी व्यक्तियों के आने-जाने पर रोक,
Image