कलियुग की पीड़ा को बयां करें तो किससे हम -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु


 जीवनदान मिले तुमको बस एक यही दुआ है ईश्वर से !

जीवन का सुख संभव है ज़िंदा धरती पर रहने से !! 

*************************

जीवनदान की इच्छा लेकर सिर झुका है चरणों में ! 

मानवता के परम पुजारी सोचो क्या है फ़र्ज़ तुम्हारा !! 

*************************

जीवनदान मिला तुमको यही खुशी है हमको ! 

जग में पूजा जाए तुमको केवल अच्छे कर्मों से !! 

*************************

कुछ कर्म तुम्हारे अच्छे थे जो जीवनदान मिला तुमको ! 

वरना इस अपराध के बदले मौत तुम्हारी निश्चित थी !! 

*************************

जब याद तुम्हारी आई मुझको आंख में आंसू मेरे थे ! 

बात समझ में आए उसको जीवनदान मिला हो जिसको !! 

*************************

देकर जीवनदान तुम्हें मैं भी अब आजाद हुआ हूं ! 

इतनी लंबी उम्र में मुझको ऐसा दृश्य दिखा नहीं !! 

*************************

तेरे मेरे जीवन की अब गौरव गाथा कौन सुनेगा ! 

जीवनदान देकर उसको एक नया इतिहास रचो !!

*************************

मेरा अपना कर्म था ऐसा पाया मैंने जीवन दान ! 

कलियुग की पीड़ा को बयां करें तो किससे हम !! 

******************तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !

Popular posts
गुरु अर्जन देव जी का 415 शहीदी वा गुरपूर्व बड़े ही श्रद्धा एम सादगी के साथ मनाया गया
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
उत्तर प्रदेश में COVID-19 के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों से जुड़ी सरकारी योजनाओं और सुविधाओं पर समझ बनाने हेतु राज्य स्तरीय परिचर्चा का हुआ आयोजन
Image
बस्ती में नाइट कर्फ्यू का आगाज,रात 9बजे से सुबह 6बजे तक रहेगा कर्फ्यू,आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी व्यक्तियों के आने-जाने पर रोक,
Image
सर्व धर्म प्रार्थना सभा का हुआ आयोजन,कोरोना से मरे लोगों को किया याद
Image