तुम्हारे मुंह से शराफ़त का क़िस्सा नहीं सुना मैंने -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु

मत पढ़ाओ शराफ़त का पाठ तुम हमको ! 


तुम्हारे चरित्र का हर एक पन्ना पढ़ा है मैंने !! 


*************************


अख़बार में देखो तो हर जगह लूटपाट दंगा फसाद है ! 


यारों क्या हमारे मुल्क में अब शराफ़त बची ही नहीं !! 


*************************


तुम्हारे मुंह से शराफ़त का क़िस्सा नहीं सुना मैंने ! 


कभी-कभी लूटपाट बलवा से इतर कुछ सुनाओ !!


*************************


तुम्हारे शहर की कहानी सुनकर मन में एक ख़्याल आया ! 


क्यों ना शहर में एक मोहल्ला शरीफों का बसाया जाए !! 


*************************


तोड़ती रहेगी शराफ़त अगर यूं ही दम अपना ! 


तुम्हीं बताओ सुकून का एहसास किसको होगा !! 


*************************


शराफ़त का नमूना बने घूम रहे हो सरे बाज़ार तुम ! 


सोचो जो दबंगों की नज़र पड़ गई तुम पर तो क्या होगा !! 


*************************


अपराध की दुनिया में मर्दों का दम घुट रहा है ! 


तुम कहते हो औरत दुनिया पर शासन करेगी !! 


****************** तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु कवि व मंच संचालक अंबेडकरनगर उत्तर प्रदेश !


Popular posts
राजा लक्ष्मेश्वर सिंह की 67 वी जयंती पर राजभवन बस्ती में हुए विभिन्न कार्यक्रमो ने लोगो का मन मोहा, हुआ पुस्तक विमोचन
Image
बस्ती के नए पुलिस अधीक्षक बने गोपाल कृष्ण चौधरी, 2016बैच के है आईपीएस अधिकारी,
Image
परशुरामाचार्य पीठाधीश्वर स्वामी श्री सुदर्शन महाराज द्वारा सम्मानित हुए —कवि डॉ० तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
संसार के चिरंजीवी महापुरुषों में एक नाम परशुराम –कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image