बाबरी ढांचे के विध्वंस के 28 साल बाद सभी 32 आरोपियों को सीबीआई कोर्ट ने बरी किया, जज ने कहा फोटो से कोई आरोपी साबित नहीं हो जाता


बाबरी ढांचे के विध्वंस के 28 साल बाद आज सीबीआई की विशेष अदालत का फैसला आया। विशेष सीबीआई अदालत के जज सुरेन्द्र यादव की सुनवाई में 32 आरोपियों को बाइज्जत बरी किया गया।


लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जुड़े। जबकि आरोपी चंपत राय और बजरंग दल के प्रकाश शर्मा समेत बाकि 26 आरोपी कोर्ट रूम में मौजूद थे।


बता दे, 6 दिसंबर 1992 के दिन अयोध्या में विवादित बाबरी ढांचा ढहा दिया गया था। बाबरी विध्वंस केस में आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, बाला साहेब ठाकरे, राम विलास वेदांती और उमा भारती समेत 49 आरोपी बनाए गए थे, इनमें से अब सिर्फ 32 आरोपी ही जीवित हैं. बाबरी विध्वंस केस के आरोपी डॉक्टर राम विसाल वेदांती कह चुके हैं कि इस केस में उन्हें उम्रक़ैद मिले या फांसी, ये उनका सौभाग्य होगा।


बरी की राय आते ही बीजेपी समर्थकों उल्लाश मनाना शुरू कर दिया।


Popular posts
ऑन लाईन कार्यक्रमों को बढ़ावा,वर्तमान समय की मांग
Image
गुरु अर्जन देव जी का 415 शहीदी वा गुरपूर्व बड़े ही श्रद्धा एम सादगी के साथ मनाया गया
Image
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
उत्तर प्रदेश में COVID-19 के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चों से जुड़ी सरकारी योजनाओं और सुविधाओं पर समझ बनाने हेतु राज्य स्तरीय परिचर्चा का हुआ आयोजन
Image
बस्ती में नाइट कर्फ्यू का आगाज,रात 9बजे से सुबह 6बजे तक रहेगा कर्फ्यू,आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी व्यक्तियों के आने-जाने पर रोक,
Image