नगर पालिका की करोड़ों की जमीन पर गलत तरीके से काबिज होना चाहते हैं भू माफिया, राजस्व रिकार्ड मे में 21 मई 1951 को असिस्टेंट कलेक्टर की अदालत के आदेश पर नगर पालिका को हैंडओवर किया गया था


बस्ती: 15 वर्ष पूर्व बंद हो चुकी सीतापुर नेत्र चिकित्सालय की भूमि पर स्वामित्व को लेकर चल रहे घमासान के दौरान नगर पालिका ने अस्पताल की भूमि को अपना बताया है।


जिला महिला अस्पताल के ठीक पीछे वर्ष 1977 में स्थापित सीतापुर नेत्र चिकित्सालय वर्ष 2005 में बंद हो गई। नगर पालिका ने इस पर अपना अधिकार बताते हुए अस्पताल के जर्जर भवन को जेसीबी से ढहाना शुरू किया तो जिला पंचायत ने इस पर आपत्ति जताई। वहीं नगर पालिका की अध्यक्ष रूपम मिश्रा और अधिशासी अधिकारी अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि जिस भूमि पर सीतापुर नेत्र चिकित्सालय स्थापित किया गया था वह नगर पालिका की थी। उसे 21 मई 1951 को असिस्टेंट कलेक्टर की अदालत के आदेश पर नगर पालिका को हैंडओवर कर दिया गया था। कहा कि इन दिनों कुछ स्वार्थी तत्वों की ओर से जिला पंचायत को गुमराह करके अपना उल्लू सीधा करने की कोशिश की जा रही है। वे नपा की करोड़ो रुपये की जमीन पर गलत तरीके से काबिज होना चाहते हैं। राजस्व रिकार्ड में यह भूमि जिला पंचायत के नाम है ही नहीं।


Popular posts
बस्ती:-सौम्याअग्रवाल आईएएस,बस्ती की नई जिलाधिकारी बनी, जानिए उनकी सफलता की कहानी
Image
औरों को सुख पहुंचाने से बेहतर कोई काम नहीं -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
अपनी कविताओं में आम आदमी का दर्द बयां कर दो तुम -- कवि तारकेश्वर मिश्र जिज्ञासु
Image
सुर मलिका डॉ शहनाज खान सहित कई हस्तियों को नेशनल अमेरिकन यूनिवर्सिटी यू .एस.ए.ने "डॉक्टर ऑफ लिटरेचर इन म्यूजिक " डि. लिट की उपाधि से किया सम्मानित ..
Image
भावना शर्मा को दिल्ली ओलंपिक खेलों में रैफ्री के लिए आमंत्रण
Image