संतकबीरनगर के दो मरीजों की कैली अस्पताल मे मृत्यु, कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत अंतिम संस्कार किया गया


बस्ती के कैली अस्पताल में भर्ती संतकबीरनगर के दो लोगों की सोमवार को मौत हो गई। जिला अस्पताल से शव दोनों के गांव भेजा गया। शाम को कोविड-19 प्रोटोकाल के तहत दोनों का अंतिम संस्कार किया गया। दोनों का नमूना लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया है। अब तक रिपोर्ट नहीं आई है।


 


एएसपी असित श्रीवास्तव ने बताया कि महुली क्षेत्र के मझगांवा गांव निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति लुधियाना से स्पेशल ट्रेन से 24 मई को बस्ती रेलवे स्टेशन पर पहुंचा था। बस्ती से बस से सीधे ट्रांजिट सेंटर खलीलाबाद आया और फिर मेडिकल टीम ने उसकी थर्मल स्क्रीनिंग की।


ट्रांजिट सेंटर में तबीयत खराब होने की वजह से उसे एंबुलेंस से बस्ती के कैली अस्पताल भेज दिया गया था। सोमवार को कैली अस्पताल में उपचार के दौरान व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं 25 वर्षीय महिला बेलहर थाना क्षेत्र के बेलहर खुर्द गांव के टोला अवसरा भरपुरवा की रहने वाली थी।


महिला 16 मई को अपने पति, देवर, ससुर और आठ माह के बेटे के साथ मुंबई से घर लौटी थी। 23 मई को महिला को सांस संबंधी दिक्कत और बुखार होने पर जिला अस्पताल गई थी। जहां से रेफर होकर बस्ती के कैली अस्पताल में भर्ती थी।


सोमवार को उपचार के दौरान कैली बस्ती में मौत हो गई। परिवार के अन्य सदस्य घर पर क्वारंटीन हैं। अपर सीएम डॉक्टर मोहन झा ने बताया कि दोनों का नमूना लेकर कोरोना की जांच के लिए भेजा गया है लेकिन अब तक रिपोर्ट नहीं आई है।


 


 एसओ बेलहर अजय कुमार सिंह ने बताया कि मृतका के शव का अंतिम संस्कार कोविड -19 के प्रोटोकाल के मुताबिक गांव के पास स्थित पोखरे के किनारे संपंन हुआ। पति ने चिता को मुखाग्नि दी। एसओ महुली प्रदीप कुमार सिंह ने बताया कि मझगांवा के शख्स का अंतिम संस्कार कोविड के प्रोटोकाल के अनुसार घाघरा के बिडहर घाट पर संपंन हुआ। बेटे ने चिता को मुखाग्नि दी।